गूगल में राजा महाराजा की तरह नौकरी करते हैं यहाँ के एम्प्लोयी, अंदर की तस्वीर देखकर आपकी आँखें फटी रह जाएगी


0

आज के दौर में सायेद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जो इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं करता होगा. अब जाहिर है जो इंटरनेट का इस्तेमाल अपने दैनिक रूप से किया करते है तो उन लोगो को Google के बारे में ना पता हो ऐसा हो ही नहीं सकता है. इंटरनेट पर सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला सर्च इंजन गूगल ही है. Google की शुरुआत 1996 में हुई थी लेकिन आपको बता दें की गूगल अपनी शुरुआती दिनों में इतना ज्यादा पॉपुलर नहीं था.

आज Google दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बन गयी है.Google के बहुत सारे प्रोडक्ट है जो कि बहुत ज्यादा प्रसिद्ध और आप इसका इस्तेमाल अक्सर किया करते है. आप अपनी स्मार्टफोन में दुनिया भर की वीडियो YouTube पर देखते है और पर्सनल या प्रोफेशनल मेल करना हो तो Gmail का इस्तेमाल किया करते है. ये सभी Google ने ही तो हमे दिया है.

आज हम आपको गूगल का पूरा नाम बताते है, गूगल को “ग्लोबल आर्गेनाइजेशन ऑफ़ ओरिएंटेड ग्रुप लैंग्वेज ऑफ़ एअर्थ” भी कहते है. आज गूगल इंटरनेट का सबसे पॉपुलर वेबसाइट अथवा सर्च इंजन है. यहाँ पर आप वो हर चीज ढूंढ सकते है, जिसके बारे में आपको जानकारी नहीं है. आज के आधुनिक दौर में गूगल ने हम सभी की ज़िन्दगी बेहद आसान कर दी है. आपको किसी जगह जाने का रास्ता पता करना हो, भूख लगने पर खाने की जगह या फिर शॉपिंग सेण्टर को जाना हो, गूगल की मदद से आप सबकुछ बड़ी ही आसानी से कर सकते है.

ये तो गूगल की खासियत जिसके बारे में लगभग हम सभी लोग जानते है. लेकिन आज का ये पोस्ट ख़ास हम आपके लिए लेकर आये है जिसमे हम आपको गूगल के बारे में रोचक जानकारी देंगे. क्या आपको पता है जो लोग दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी गूगल में काम करते है उन पर उनके काम का कोई लोड नहीं होता है. ये जानकार आप भी सोच में पड़ जायेंगे की यहाँ पर काम करने वाले एम्पलॉईस की जिंदगी आम नौकरी करने वाले लोगो की तरह नहीं होती है, बल्कि यहाँ पर काम करने वाले लोग किसी महाराजा से कम नहीं होते है. आइये फिर हम आप को गूगल के ऑफिस के बारे में कुछ अनोखी जानकारी देते है.

गूगल के संस्थापक का नाम लेरी पेज और सेर्गेय ब्रिन है. ये दोनों स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से पीएचडी के स्टूडेंट रह चुके है. अब आज गूगल दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है तो ऐसे गूगल को अपने एम्पलॉईस पर भी ध्यान देना होगा. बाकी कंपनी की तुलना में गूगल अपने एम्पलॉईस का ख़ास ख्याल रखता है. यहाँ पर काम करने वाले लोगो पर गूगल कभी काम का लोड नहीं देता है. ऐसे में ख़ास अपने एम्प्लॉएंस का ध्यान रखने के लिए गूगल ने कुछ ऐसा वर्किंग वातारण बनाया है, जहाँ पर हर कोई भी मन लगा कर काम करना पसंद करेगा.

गूगल ने अपने ऑफिस को पूरी तरह से स्ट्रेस फ्री रखा है. आप ये मान कर चलिए गूगल में किसी कंपनी के ऑफिस की तरह नहीं बल्कि एक घर जैसा माहौल बनाया है. ऐसा इसीलिए ताकि उनके एम्पलॉईस आराम से काम कर सके. इसी कारण से गूगल को 2015 की बेस्ट वर्क प्लेस लिस्ट में पहले नंबर का स्थान प्राप्त हुआ था. गूगल का हेडक्वार्टर माउंटेन व्यू, कैलिफ़ोर्निया,अमेरिका में स्तिथ है, इसे गूगलप्लेक्स के नाम से भी जाना जाता है. ये जानकार आपको खुशी होगी की दुनिया के इतने बड़े कंपनी के सीईओ एक भारतीय है, जिनका नाम सुन्दर पिचाई हैं.

कंपनी में काम करने वाले स्टाफ की बात की जाये तो गूगल में 85000 से भी ज्यादा लोग काम करते है. पूरे दुनिया में लगभग 40 देशो में गूगल के 70 से ज्यादा ऑफिस मौजूद है. इन सभी ऑफिस में गूगल ने अपने एम्पलॉईस के लिए जिम, स्विमिंग पूल, पार्क, रसोई घर जैसी सुविधाएं दी है. गूगल की सभी ऑफिस किसी महल से कम नहीं है. यहाँ पर लोग आराम से बैठ कर अपना कर करते है और जब काम से थक जाते है तो अपने मन मुताबिक यहाँ पर मौजूद वातावरण का लुत्फ़ उठाते है.

पोस्ट में दिखाई गयी तस्वीरें देख कर आप को खुद अंदाजा हो गया होगा की गूगल ने अपने एम्प्लॉएंस का कितना ध्यान रखता है. गूगल ने ऑफिस में रंग बिरंगा माहौल बना रखा है, यहाँ जगह जगह पर आप को अलग अलग तरह के फर्नीचर और सजावट दिख रही होगी. सबसे अहम् चीज़ तो ये है की इतनी अच्छी वातावरण देने के साथ साथ गूगल में काम करने वाले लोगो को सैलरी भी काफी अच्छी मिलती है. सच कहूँ तो यहाँ पर काम करना वाकई में किसी सपने से कम नहीं है.

हाँ तो जैसा हमने पोस्ट की शुरुआत में आपसे कहा था की हम आपको गूगल के बारे में कुछ रोचक जानकारी देंगे. हमे उम्मीद है की आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा.


Like it? Share with your friends!

0
News Fellow

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!