अमृतसर रेल हादसा : जानिए इस बड़ी त्रासदी से जुड़े 6 अहम् ऐसे तथ्य जिसकी वजह से हुआ यह हादशा


0

कल शाम पुरे हर्षोउल्लाश के साथ देश भर में दशहरे की खुशिया मनाई जा रही थी लेकिन वही दूसरी ओर पंजाब के अमृतसर में कल रात दशहरे का उत्सव उस वक्त मातम में बदल गया जब यहाँ पर आयोजन स्थल के समीप पटरियों पर खड़े दर्जनों लोग अचानक से आई दो तेज रफ़्तार ट्रेनों की चपेट में आ गए. इस हादसे में अब तक 61 लोगों की मौत हो गई और तक़रीबन 72 लोग अभी भी गंभीर रूप से घायल है. आइये हम आपको इस हादसे से जुड़े छे अहम् तथ्यों के बारे में बताते है जो इस बड़े हादसे की वजह बनी.

घटना स्थल के पास रेलवे की एक पांच फुट की दीवार भी थी जो रेलवे की पटरियों और उस खाली मैदान को अलग करती है जहाँ पर रावण दहन का आयोजन किया जा रहा था.

इस स्थान पर रेलवे की पटरियां थोड़ी ऊंचाई पर हैं और इस वजह से लोग रावण दहन को अच्छे से देखने के लिए पटरियों पर खड़े हुए थे.

इन पटरियों पर खड़े लोग दुविधा की वजह से भी अपनी जान गवा बैठे, अप ट्रैक पर जब ट्रैन आयी तो लोग डाउन ट्रैक की तरफ बडहे लेकिन डाउन ट्रैक पर भी ट्रैन आ गयी जिस वजह से जयदा लोगो की जान गयी.

कल शाम को जो हादशा पंजाब के अमृतसर में हुआ ठीक इसी तरह क एक हदशा केरल में भी हुआ था , 26 लोगों की हुई थी मौत

इस घटना स्थल से मात्र 400 फीट की दुरी पर ही जोरा फाटक नाम की एक रेलवे क्रॉसिंग है.

घटना से कुछ समय पहले ही ट्रैन आने से पहले इस रेलवे क्रॉसिंग के द्वार बंद कर दिए गए थे.

जिस स्थान पर यह हादशा हुआ था उस स्थान पर पिछले साल दशहरे का कोई आयोजन नहीं किया गया था.

इस कार्यक्रम का आयोजन कांग्रेस नगर निगम के बेटे सौरभ मिथु मादान ने करवाया था, वे अमृतसर नगर निगम में नवजोत सिंह सिद्धू समूह के मिथु मादान हैं। मिथु अमृतसर नगर निगम में नवजोत सिंह सिद्धू समूह में कार्यरत है.


Like it? Share with your friends!

0
News Fellow

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *